राज्य मुख्यालय मान्यता प्राप्त पत्रकार पर परिवहन विभाग के कर्मचारियों ने किया हमला पत्रकार घायल

0
18

राज्य मुख्यालय मान्यता प्राप्त पत्रकार पर परिवहन विभाग के कर्मचारियों ने किया हमला पत्रकार घायल
लखनऊ । आज के घटनाक्रम में यह बताया जा रहा है कि शशि नाथ दुबे जोकि बिजनेस टाइम से राज्य मुख्यालय मान्यता प्राप्त पत्रकार है आज दोपहर लगभग 2:00 बजे के बाद अपना टिकट बुक कराने के लिए आलमबाग बस स्टेशन पहुंचे और उन्होंने जयपुर जाने के लिए अपना रिजर्वेशन करने को कर्मचारियों से कहा वहां पर मौजूद कर्मचारी ने उनसे कहा कि आपका टिकट हम बुक नहीं कर सकते इसके लिए आप आर एम साहब से मिलिए शशि नाथ दुबे अस्वस्थ होने के कारण कहा कि मैं अभी कई सीढ़ियां चढ़ा उतरा हूं तो कम से कम आप यही कह दीजिए कि जगह नहीं हमारे मोबाइल पर बोल दीजिए मैं रिकॉर्डिंग कर लेता हूं बस इतनी सी बात को लेकर वहां पर इंचार्ज अरुण कुमार द्वारा गाली गलौज की गई और अभद्र व्यवहार करते हुए पत्रकारों को अशोभनीय टिप्पणी करते हुए शशि नाथ दुबे का मोबाइल छीन कर फेंक दिया यह भी कहा कि बड़े पत्रकार आए हैं रिकॉर्डिंग करते हैं सत्य को उजागर करेंगे , बड़े बड़े पत्रकारों को मैंने देखा है तुम्हें भी जो कुछ करना हो कर लेना और गालियों की बौछार करते रहे औरउनसे मारपीट करने की कोशिश की उसके तदुपरांत अरुण ने वहां पर मौजूद कर्मचारी ओम प्रकाश और दो अन्य लोगों को बुलाकर शशि नाथ दुबे पर हमला करवा दिया जिसमें उन्हें काफी चोटें आई उन्हें मारा पीटा गया धक्का दिया गया आंख के आसपास भी चोट आई , कोहनी पर चोट आई उनके सर पर प्रहार किया गया जिससे सर में चोट आई , धक्का दे दिया जिससे उनकी कमर में भी काफी चोट आई लोगों के बीच बचाव के बाद शशि नाथ दुबे इसकी रिपोर्ट लिखाने के लिए आलमबाग थाने पहुंचे उन्होंने वहां मौजूद एसआई को अपनी सारी बात बताई इस बात को लेकर के वहां के कर्मचारी भी थाने पहुंच गए लेकिन वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने उनकी रिपोर्ट लिखने से पहले सीसीटीवी को देखने की बात की एसआई द्वारा चारबाग बस स्टेशन आकर सीसीटीवी को चेक किया गया जिसमें स्पष्ट रूप से मारपीट करते हुए चार कर्मचारी सीसीटीवी में कैद हो गए थे इसको देखने के बाद थाने में एफ आई आर शशि नाथ दुबे द्वारा दर्ज करा दी गई कर्मचारियों ने बहुत ही अभद्र व्यवहार किया और समस्त पत्रकारों को भी अश्लील टिप्पणियां की जिससे शशि नाथ दुबे को बहुत आघात लगा । पत्रकारों की गरिमा का प्रश्न है परिवहन विभाग के आलमबाग बस अड्डे के इंचार्ज अरुण कुमार द्वारा ही इस घटना को अंजाम दिया गया जिसके खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है देर रात परिवहन विभाग के उच्च अधिकारियों द्वारा सीसीटीवी कैमरे को चेक किया गया एमडी द्वारा भी उसे देखा गया सीसीटीवी चेक करने के बाद एमडी द्वारा चार कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया लेकिन मुख्य आरोपी वहां के इंचार्ज अरुण कुमार को अभी तक सस्पेंड नहीं किया गया है जिसने पूरी घटना को अंजाम दिया और पत्रकारों को अश्लील टिप्पणियां की है। जिससे पत्रकारों में काफी रोष व्याप्त है।
घायल शशि नाथ दुबे को पुलिस द्वारा आलमबाग के लोक बंधु हॉस्पिटल में जांच कराई गई और प्राथमिक उपचार भी कराया गया सर में चोट आने के कारण लोकबंधु अस्पताल में एम आर आई कराने के लिए बलरामपुर हॉस्पिटल या मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया।
शशि नाथ दुबे इससे पूर्व कई चैनलों और बड़े समाचार पत्रों में जुड़े रहे हैं और बहुत सक्रिय पत्रकारों में गिने जाते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here