विधिक जागरूकता साक्षरता कार्यक्रमों द्वारा किया जा रहा प्रचार प्रसार

0
22

विधिक जागरूकता/साक्षरता कार्यक्रमों द्वारा किया जा रहा प्रचार प्रसार
जौनपुर । राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के आदेशानुसार माननीय जनपद न्यायाधीश अजय त्यागी की अनुमति से विधिक सेवा दिवस के अवसर पर 09 नवम्बर 2018 से 18 नवम्बर 2018 तक राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण की योजनाओं एवं प्रदान की जाने वाली विधिक सहायता की जानकारी प्रदान कराये जाने हेतु जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जौनपुर द्वारा विधिक जागरूकता साक्षरता कार्यक्रमों विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित कर भरपूर प्रचार प्रसार किया जा रहा है इस कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लोकेश वरूण द्वारा घर-घर जोर-शोर से प्रचार-प्रसार करने के लिए सभी पी0एल0वी0 की टीम पैनल लायर के नेतृत्व में बनायी गयी है जो अपने-अपने तहसीलों में स्थित खण्ड विकास क्षेत्रो क्षेत्र पंचायतों में जाकर समाज के दबे कुचले पिछड़े लोगों गरीबो एवं महिलाओं आदिवासियों वनबासियों आदि को मध्यस्थता एवं सुलह समझौता केन्द्र जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लोक अदालतों एवं लीगल एड क्लीनिक के बारे में विस्तार से बतायेंगे। उन्हें सुलह समझौता द्वारा सुलह करके मुकदमें निस्तारित करने हेतु प्रेरित एवं प्रोत्साहित करेंगे। पी0एल0वी0 की टीम गॉवों में मलिन बस्तियों एवं दूर-दराज के क्षेत्रों अशिक्षित एवं पिछड़े क्षेत्रों में घर-घर जाकर विधिक रूप से जागरूक करायेंगे।
राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण की योजना के अनुसार लोगों को जहाँ तक हो सके मुकदमें बाजी से बचने और लम्बित ज्यादा से ज्यादा वादों को सुलह समझौते के आधार पर निस्तारित कराये जाने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा गरीब एवं असहाय लोगों को मुकदमें की पैरवी हेतु प्रार्थना पत्र प्रस्तुत करने पर निःशुल्क अधिवक्ता प्रदान किये जाने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में स्थापित फूट आफिस में जाकर निःशुल्क मदद प्राप्त कराये जाने सम्बन्धी जानकारी प्रदान कराया जा रहा है। पी0एल0वी0 द्वारा लोगों को विशेषकर कमजोर वर्गों को बतायें कि संविधान एवं विधान में उन्हें पूरी मानवीय गरिमा के साथ जीने की कानूनी अधिकारों में गारंटी दी गयी है। जहाँ कहीं कानून तोड़ा जा रहा हो या अन्याय हो रहा हो वहाँ लिखित मौखिक या टेलीफोनिक सूचना प्रभावी कार्यवाही हेतु जिला विधिक सेवा प्राधिकरण या तहसील विधिक सेवा समिति को दे सकते हैं। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं तहसील विधिक सेवा समिति से अनुमति लेकर जेल लाकअप मनोचिकित्सालय बालगृहों में जाकर विधिक सहायता दे सकते हैं। जहाँ बाल अधिकारों का हनन हो, बाल श्रम हो रहा हो बाल तस्करी या बच्चो के लापता होने पर नजदीकी विधिक सेवा प्राधिकरण अथवा बाल सुधार समितियों को सूचित करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here